Friday, 1 February 2013

confused youth ( a work on MS-Paint)



" दिशा भ्रमित पथ विहीन व्याकुलित 
अचरज भरी निगाहों से 
किस रस्ते जाऊं कुछ खबर नहीं 
क्या हाल हुए हैं युवाओं के "

कविराज तरुण 

1 comment: